श्री नृसिंह स्तोत्रम्

भवनाशनैकसमुद्यमं करूणाकरं सुगुणालयं। निजभक्ततारणरक्षणाय हिरण्यकश्यपुघातिनम्।। भवमोहदारणकामनाशनदुःखवारणहेतुकं। भजपावनं सुखसागरं नरसिंहमद्वयरूपिणम्।।१।। (हे मानवा ! आपले कल्याण व्हावें असें…

मन्त्रात्मकं श्रीमारुतिस्तोत्रम्

ॐ नमो भगवते आञ्जनेयाय महाबलाय स्वाहा । ॐ नमो वायुपुत्राय भीमरूपाय धीमते । नमस्ते रामदूताय कामरूपाय…

भगवान श्री दत्तात्रेय की इस स्तुति का पाठ करने से दूर होता है पितृदोष, होती हैं हर मनोकामना पूरी |

भगवान श्री दत्तात्रेय को तंत्राधिपति भी कहा जाता हैं, ऐसा कहा जाता हैं कि जो भी…

शंकराचार्यकृत् ’विवेकचूडामणि’ श्लोक- (४५), (४६) , (४४)

शंकराचार्यकृत् ’विवेकचूडामणि’ श्लोक- (४५), (४६) , (४४) केवळ साधन-चतुष्टय असून कार्यभाग होत नाही, तर निदिध्यास हे…

error: Content is protected !!